Monday, September 5, 2016

जीवन में तनाव (Stress) को कम करने के आसान तरीके।

  जीवन में तनाव (Stress) को कम करने के आसान तरीके।


दुर्भाग्यवश तनाव जीवन का एक बड़ा हिस्सा है। खासकर यदि आप बडे सपने देखते हैंऔर कुछ चीजें आप जिस तरह से उन्हें करना चाहते है वैसे ना होनाऔर जीवन में संघर्ष होना इस वजह से आप और ज्यादा तनाव महसूस करते है। तनाव (Stress) की वजह से बहोत सी बिमारीया भी होने लगती हैजैसे उदास (Depression) रहनाथकावट महसूस होनानींद ना आनाबीपी (Blood Pressure) की समस्या होना और भी बहोत सी समस्यायें होती है। पहले तो तनाव सिर्फ ज्यादा उम्र के व्यक्तीयों को होता था परंतू आज के जीवनशैली की वजह से यह समस्या सभी उम्र के लोगों को परेशान करने लगी है। बच्चे भी तनाव से ग्रस्त है। लेकिन अगर आप तनाव (Stress) को अपने नियंत्रण में रखना सींख गए तो आपका जीवन आसान हो जायेगा।
दुर्भाग्य सेहम सभी को किसी न किसी प्रकार का दैनिक तनाव हैऔर यह कई स्रोतों से आ सकता हैं। लेकिन तनाव को हम निश्चित रूप से कम कर सकते हैं,  इसके लिए हमें कुछ सरल उपाय करने होंगे।  जिस से हम तनाव से होनेवाले रोगों से दूर रह सके।
तनाव को दूर करने और स्वस्थ रहने के लिए कुछ तरीके इस तरह है। इन तरीकों से आप खुश भी महसूस करेंगे और तरोंताजा भी।
  • स्वस्थ (Healthy) भोजन करें  

हम सभी जानते हैं कि स्वस्थ (Healthy) भोजन या आहार करनें से हमें कितने फायदें है। किस तरह स्वस्थ (Healthy) डाइट से हम स्वस्थ शरीर पा सकतें हैं और रोग से दूर रह सकते है। परंतू आजकल खेतों मे इस्तेमाल होनेंवाले केमिकल और फर्टीलायझर की वजह से हमें शूद्धस्वस्थ (Healthy) भोजन नहीं मिल रहा। इसलिए हमें अपने स्वास्थ का ठीक से खयाल रखना होगा। अगर आपको अपना डाइट सुधारणा है तो आप बहोत से तरीके अपना सकते है। जैसे की आहार में चीनी (Sugar) का प्रमाण कम करें या बंद कर दे। चीनी (Sugar) के ज्यादा प्रमाण वाले पेय ना पिएचायकॉफी ना पिए। ज्यादा प्रोटीन वाले पदार्थ भोजन में शामिल करें। फल और हरी सब्जीयों का ज्यादा सेवन करे। अच्छे आहार से अपने स्वास्थ को अच्छा रखें इस से आपको तनाव नहीं होगा।
  • अच्छी नींद लें
   बहुत से लोग नींद का सही मूल्य नहीं समझते। खासकर जब आप युवा हैं और आप सोचते है की हम कुछ भी कर सकते हैं तब आप अपनी नींद के साथ समझौता करने लगते है। आप रात को देर से सोते है और इस से आपकी नींद पुरी नहीं होती।अनुसंधान (Research) से पता चला है कि नींद का अभाव आपके शरीर के स्वस्थ संतुलन को प्रभावित करता है,  इसलिए आप निश्तित ही नहीं चाहेंगे की आपके शरीर का संतूलन खराब हो। पर्याप्त और अच्छी नींद नहीं लेना आपके हर काम को प्रभावित करता है। अगर आपको नींद आने में कोइ समस्या है तो आप इसके लिए कुछ उपाय कर सकते है। जैसे रोज थोडी कसरत (Exercise) करनासोने से पहले दुध पिनासोने से पहले थोडा ध्यान करना आदि। लेकीन नींद के साथ कोइ समझौता ना करें।
  •    व्यायाम (Exercise) करें

व्यायाम (Exercise) करना तनाव को दूर करने का सबसे तेज और आसान तरीको में से एक है। ये तरीका मैंने खुद आजमाया और अपनाया है। मै जब भी ग्राउंड जाके दौड और व्यायाम  (Running & Exercise) करता हूँ तब उस दिन मेरा तनाव अपने आप कम हो जाता है और रात को अच्छी नींद भी आती है। बहोत से लोग जिम जानास्विमिंग करनातेज चलनासाइकिल चलानारस्सी कुदना,कोइ खेल खेलना ऐसी चीजें करते हैइस से भी आपका तनाव कम होता है और आप स्वस्थ भी रहते है। 
व्यायाम (Exercise) करने से हम कुछ व्याधी या रोग होने से बच सकते है क्योंकि व्यायाम (Exercise) हमारी रोगप्रतिकारक शक्ती (Immune System) को बढ़ाता है। व्यायाम (Exercise) के साथ ही हमें पर्याप्त मात्रा में पानी भी पीते रहना चाहिये जिस से हमारे शरीर को पानी की कमी ना हो। और सुबह या श्याम में थोडी देर ध्यान (Meditation) करने के लिए समय निकालें। ध्यान करने से आपको शांती और सुकून मिलेगा। ध्यान करने के बहोत सारे फायदे है। ध्यान करना तनाव को कम करने का सबसे बडा साधन है।
  •  आराम करने के लिए भी समय निकालें

कुछ लोग अपने रोज के काम में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि उनको 2 मिनिट रुक के थोडा आराम करने का भी टाइम नहीं मिलता या वो नहीं करते। भलें ही आप व्यस्त हो या आपको बहोत काम हो फिर भी दिन में कुछ समय निकालों और अपने आप को आराम दोकुछ समय Relax करो। इस से आपको ताजा और उर्जावान महसूस होगा। इस से आप आपका काम और अच्छे से कर सकेंगे।
Relax करने के कई तरीके है। जैसे कोइ ध्यान साधना करता हैकोइ योगा करता हैकोइ शांत बैठता है कोइ अपना मनपसंद खेल खेलता हैकोइ प्रेरणात्मक विडीओ देखता हैकोइ मनपसंद म्युझिक सुनता है। आप अपना तरीके से Relax कर सकते है। कुछ सामाजिक कार्य करने से या कही घुमने से भी आप बेहतर महसूस कर सकते है। ऐसी जगह जाए जहाँ आप पहले नहीं गए है।
  • सरलसहज जीवन जिए
     जब आप अपने जीवन में हमेशा काम व्यस्त रहते है और अपने आप के लिए समय नहीं निकाल पाते तब आपका जीवन जटील (Complicated) हो जाता है। आजकल के जीवन में इतनी Competitionहै कि हर कोइ आगे बढ़ना चाहता हैमानों जीवन एक दौड है और सबको पहला नंबर चाहिए। इसलिए सब इतना काम करते है कि खुद का कोइ वजूद और जीवन है यही भूल जाते है। बहोत से लोग काम में बहोत व्यस्त रहते हैऑफिस के कामघर के कामस्कूल कॉलेज के प्रोजेक्ट,सामाजिक कार्य इस सब कामों मे हम खुद को इतना व्यस्त कर देते है की खुद के लिए और अपनी फॅमिली के लिए वक्त ही नहीं मिलता। और इस से तनाव और बढ़ जाता है।
इसलिए अब अपने आप के लिए और अपनी फॅमिली के लिए वक्त निकाले। काम के बीच मे थोडा समय निकाल कर अपनी मनपसंद हॉबी को दिजीए। घर आकर अपने बच्चों के साथ खेलें। दोस्तों से मिले। कहीं घुमने निकल जाए। थोडा वक्त अकेले भी बिताए। इस से आपका तनाव जरुर कम होगा।
  • रचनात्मक विचार करें
    क्या आपने कभी Observe किया है कि जो लोग अपने शौक (Hobby) को बहोत गंभीरता से लेते है वो लोग बहोत कम उदास रहते है। या फिर जिन लोगों की शौक (Hobby) ही उनका काम है वो लोग हमेशा खुश रहते है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ऐसे लोग अपना काम रचनात्मक तरीके से करते है और इस से उनमें और उर्जा का संचार होता है। आप भी ऐसी चीजें करें जो आपको बहोत पसंद हो;जैसे खाना बनानाकोइ म्युझिकल इन्सट्रुमेंट बजानाकिताब पढ़नागाणे सुननाफोटोग्राफी करना ऐसे शौक (Hobby) पर काम कर सकते है। इसमे आप को बडा मजा आएगा और आप बहोत अच्छा महसूस करेंगे। ये करने से आप बाहरी दुनिया और कामों से थोडी देर के लिए दूर हो जाएंगे और आपका तनाव भी कम होगा।
  • जीवन का मजा लें

लोगों की सबसे बड़ी गलतियों में से एक ये है की लोग बहोत ज्यादा काम करते है। आजकल की दौड भाग और स्पर्धा के यूग में लोग मशिन बन गए है। दुनिया की दौड में पीछे रह जाने के डर से जिसेदेखो वो भाग रहा है। ऐसे काम करने से हम थक जाते है और फिर जब काम नही होता तब हम आराम करते है और जीवन का मजा लेनाआनंद लेना भूल जाते है। ऐसे में जीवन नीरस हो जाता हैआप उदास हो जाते है। बहोत से लोग Depression मे चले जाते है।

इसलिए आप अकेले हैया आपकी फॅमिली के साथ है जैसे भी हो आपका अपने दोस्तों के साथ बाहर घुमनाया अपने परिवार के साथ कही पिकनिक पर जाना बहोत जरुरी है। इस से आपको एक नई उर्जा मिलेगी। आपका मूड फ्रेश होगा। रोज कुछ नया करके देखिए इस से आपके दिमाग को काम मिलेगा और वो स्वस्थ रहेगा। कुछ नया खेल खेलें। जिस चीज से आपको मजा आता हैआनंद आता है वोकरें। यह जीवन हमें सीर्फ एक बार ही मिलता है इसलिए इसका भरपूर मजा लें।  और तनाव को अपने जीवन मए स्थान ना दे।
इन विचारों से आप को हर दिन संतुलित रहनेखुश और स्वस्थ रहने के लिए मदद मिलेगी।

आशा करता हूँ कि आपको इस लेख से कुछ सींख जरुर मिलें और आपको ये लेख पसंद आया हो।

आलेख पढ कर टिप्पणी करना ना भुलें। और अपने दोस्तों के साथ भी share जरुर करें।

धन्यवाद।


Tuesday, June 28, 2016

Meditation (ध्यानसाधना) के लाभ।

Meditation (ध्यानसाधना) के लाभ।
हम सबको पता हैं कि ध्यानसाधना से क्या फायदा होता हैं और ध्यान हमारे जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण हैं। हमें ये भी पता हैं कि ध्यानसाधना के बल पर हमारें पुर्वजों ने बहोत कुछ हासिल किया हैं। परंतू आजकल के व्यस्त और तनाव भरें जीवन मे हम ध्यान के महत्व को नजर अंदाज करने लगे हैं। विज्ञान की खोज से मिले सबूतों से पता चला हैं कि ध्यान दिल, दिमाग और आत्मा सहित अपने जीवन के महत्वपूर्ण क्षेत्रों पर गहराई से अच्छा प्रभाव करता है। यह वास्तव में किसी के जीवन को बचा भी सकता है और जीवन सुधार भी सकता हैं। अनन्य साधारण महत्व रखनें वाले इस ध्यान के कुछ फायदे जान लेते हैं।

1. ध्यान आपकी दिमाग की शक्ती (Brainpower) बढ़ाएगा।
यूसीएलए (University of California, Los Angeles) में अध्ययन से पता चला है कि जो व्यक्ती अधिक ध्यान करता हैं उसके मस्तिष्क में कोर्टेक्स की परतें ज्यादा होती हैं जो दिमाग के तांत्रिक प्रसंस्करण को बढ़ावा देने मे मदद करता हैं। और जितना आप ध्यान करतें हैं उतना आपके दिमाग का विकास ज्यादा होता हैं। ध्यान करने से आपकी एकाग्रता बढ़ेगी और आपकी निर्णय लेने की क्षमता में भी सुधार होगा। शोध में पता चला कि ध्यान करने से आप बेहतर निर्णय ले सकतें हैं, आप अपनी भावनओं पर नियंत्रण रख सकते हैं, नियम बेहतर कर सकते हैं और इतना ही नहीं आप अपने दुख और दर्द पर भी नियंत्रण कर सकते हैं। जो लोग अपने आप में सुधार लाना चाहतें हैं उनके लिए ध्यान बहोत ही महत्वपूर्ण और आवश्यक हैं। ध्यान करने से आपके अंदर दयालूता और करुणा का संचार होता हैं। ध्यान करनें से आप बहोत ही प्रसन्न और शांत महसूस करेंगें। ध्यान में बहोत शक्ती हैं।

2. ध्यान से आपका दिल स्वस्थ रहेगा
अध्ययन से लगातार पता चला है की जो लोग ध्यान करते हैं उनके हृदय का स्वास्थ्य बेहतर रहता  हैं। ध्यान करने वालें लोगो को हृदय सबंधी समस्याओं से होने वाली मौत में ध्यान ना करने वालें लोगो से 50 प्रतिशत कम खतरा होता हैं।
Maharishi University of Management  में एक अध्ययन से पता चला है कि जिन लोगों को दिल की बीमारी थी, उन लोगों ने जब नियमित ध्यान किया तो उनको दिल का दौरा होने की संभावना या उस से होनेवाली मौत ४८ प्रतिशत कम हो गई। और जिन लोगों ने 5 साल तक ध्यान किया उनको अस्पताल मे जाने की संभावना 25 प्रतिशत कम हो गई। जो लोग ध्यान करते हैं उनको उच्च रक्तचाप की भी समस्या बहोत कम होती हैं। और इस से आप आपके क्रोध पर भी नियंत्रण कर सकते हैं।

3. आप अधिक रचनात्मक और उर्जावान महसुस करेंगें।
 वाशिंगटन और एरिजोना विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने एक और अध्ययन किया और पाया कि आठ सप्ताह के ध्यान के प्रशिक्षण के बाद एक कंपनी के मॅनेजर्स एक साथ कई काम करके भी तनावग्रस्त या थकावट महसूस नहीं कर रहें थे। और दुसरी तरफ इसी कंपनी के वर्कर्स को किसी भी प्रकार का ध्यान का प्रशिक्षण नहीं दिया ना उन्हें ये बताया कि अपने शरीर को कैसे विश्राम दें। इस से ये पता चला की इन वर्कर्स को ज्यादा तनाव महसूस हुआ और मन भी अशांत था। ध्यान के और भी फायदे है जैसे कि आपकी याददाश्त बढ़ती हैं, आपका मन शांत होता हैं, आपकी एकाग्रता बढ‌ती हैं,आप अधिक प्रसन्न और उर्जावान महसूस करते हैं।

4. आपका व्यक्तीगत विकास बढे‌गा।
अगर आपको आपका व्यक्तिगत विकास तेजी से करना हैं तो ध्यान साधना आपकी बहोत मदद करेगा। विशिष्ट तरीके का ध्यान समस्या को सुलझाने की क्षमता भी बढ़ाने मदद करता हैं|  Leiden University मे Researchers ने प्रयोग करके यह बात साबित की है। Researchers ने दो प्रकार के ध्यान करके उनकी तुलना की और इस अध्ययन मे पता चला की कैसे ध्यान से समस्यायों का समाधान करनें की क्षमता बढ़ती हैं। कुछ लोगों के समूह को स्वतंत्र तरीके से खुले आसमान में ध्यान करनें को कहा गया था। उन लोगों को अपने आप के अंदर की और बाहर की संवेदनाओं को महसुस करनें को कहा गया था। इस समूह के लोगों की सोच में बहोत ही बडा बदलाव देखने को मिला। ये लोग भिन्न तरीके और भिन्न दिशाओं में सोचने मे सक्षम दिखें।   
लोगों के अन्य समूह को एक ही वस्तू पर या एक ही संवेदना पर लक्ष्य केंद्रीत करके ध्यान करने को कहा गया। जैसे की अपनी सांसो पर ध्यान केंद्रीत करें। इस समूह के लोगों को में अलग बदलाव देखने को मिला। ये लोग किसी गती, सटीकता और तर्क पर आधारित समस्याओं क समाधान करनेंमे अधिक सक्षम दिखें।
आप किसी भी प्रकार का ध्यान करे यह आपको फायदा ही करेगा। 


Tuesday, February 16, 2016

"CHANAKYA NITI"

“ चाणक्य नीति 


·   अगर सांप जहरीला ना भी हो तो भी उसे खुद को जहरीला दिखाना चाहिए।

व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है; और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है; और वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है|

·   इस बात को व्यक्त मत होने दीजिए कि आपने क्या करने के लिए सोचा है, बुध्दिमानी से इसे रहस्य बनाएं रखें और उस काम को करने के लिए दृढ़ रहें।

·   शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है। एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पाता है। शिक्षा सौंदर्य और यौवन को परास्त कर देती है।

·   जैसे ही भय आपके करीब आए, उस पर आक्रमण कर उसे नष्ट कर दें।

·   किसी मूर्ख व्यक्ति के लिए किताबें उतनी ही उपयोगी हैं, जितना कि एक अंधे व्यक्ति के लिए आइना।

·    जब तक आपका शरीर स्वस्थ और नियंत्रण में हैं और मृत्यु दूर हैं, अपनी आत्मा को बचाने कि कोशिश करें, जब मृत्यु सिर पर आएगी तब आप क्या कर पाएंगे?

·   कोई भी व्यक्ति अपने कार्यों से महान होता हैं, अपने जन्म से नहीं।

·   जिस प्रकार सूखे पेड को अगर आग लगा दी जाए तो वह पूरा जंगल जला देता है, उसी प्रकार एक पापी  पुत्र पूरे परिवार को बर्बाद कर देता हैं।

·   दुनिया की सबसे बडी‌ शक्ति नौजवानी और औरत की सुंदरता हैं।

·   पहले पांच सालों में अपने बच्चे को बड़े प्यार से रखें। अगले पांच साल उन्हें डांट-डपट के रखें। जब वह सोलह साल का हो जाए तो उसके साथ एक मित्र की तरह व्यवहार करें। आपके वयस्क बच्चे ही आपके सबसे अच्छे मित्र हैं।

·   सबसे बड़ा गुरु मंत्र हैं: कभी भी अपने राज दूसरों को मत बताएं। ये आपको बर्बाद कर देगा।

·   फूलों की सुगंध केवल वायु की दिशा में फैलती हैं. लेकिन एक व्यक्ती की अच्छाई हर दिशा में फैलती हैं।

·    हमें भूत के बारे में पछतावा नहीं करना चाहिए, ना ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए; विवेकवान व्यक्ति हमेशा वर्तमान में जीते हैं।

·    हर मित्रता के पीछे कोई ना कोई स्वार्थ होता है। ऐसी कोई मित्रता नहीं जिसमें स्वार्थ ना हो। यह कडवा सच हैं।

·   सांप के फन, मक्खी के मुख और बिच्छु के डंक में जहर होता हैं; पर दुष्ट व्यक्ति तो सिर से पैर तक इसमें भरा होता है।

·    वह जो हमारे चिंतन में रहता है वह करीब है, भले ही वास्तविकता में वह बहुत दूर ही क्यों ना हो; लेकिन जो हमारे हृदय में नहीं है वो करीब होते हुए भी बहुत दूर होता हैं।

·    वह जो अपने परिवार से अत्यधिक जुड़ा हुआ हैं, उसे भय और चिंता का सामना करना पड़ता हैं, क्योंकि सभी दुखों की जड़ लगाव हैं।

·    जब आप किसी काम की शुरुवात करें, तो असफलता से नहीं डरें और उस काम को ना छोंड़े। जो लोग ईमानदारी से काम करते हैं वो सबसे प्रसन्न होते हैं।

·    सेवक को तब परखें जब तक वह काम ना कर रहा हो, रिश्तेदार को किसी कठिनाई में, मित्र को संकट में और पत्नी को घोर विपत्ति में। इसलिए खुश रहने के लिए लगाव छोड़ देना चाहिए।  

·   कोई भी काम शुरु करने से पहले खुद से तीन सवाल जरुर पूछें; मैं ऐसा क्यों करने जा रहा हूँ? इसका क्या परिणाम होगा? क्या मैं सफल रहूँगा?

·    एक उत्कृष्ट बात जो शेर से सीखी जा सकती हैं वो ये हैं कि व्यक्ति जो कुछ भी करना चाहता है उसे पूरे दिल और जोरदार प्रयास के साथ ही करें।

·    संतुलित दिमाग जैसी कोई सादगी नहीं हैं, संतोष जैसा कोइ सुख नहीं हैं, लोभ जैसी कोइ बीमारी नहीं हैं और दया जैसा कोई पुण्य नहीं हैं।

·    यदि किसी का स्वभाव अच्छा है तो उसे किसी और गुण की क्या जरुरत हैं? यदि आदमी के पास प्रसिध्दि है तो भला उसे किसी श्रुंगार की क्या आवश्यकता हैं|

·    अपमानित हो कर जीने से अच्छा मरना हैं। मृत्यु तो बस एक क्षण का दु:ख देती है, लेकिन अपमान हर दिन जीवन में दु:ख़ लाता हैं।

·    कभी भी उनसे मित्रता नहीं करें, जो आपसे कम या ज्यादा प्रतिष्ठा का हों। ऐसी मित्रता कभी आपको खुशी नहीं देगी।

·    अपना धन उन्हीं को दो जो उसके योग्य हों और किसी को नहीं। बादलों के द्वारा लिया गया समुद्रका जल हमेशा मीठा होता हैं।

·    जो लोग परमात्मा तक पहुंचना चाहते हैं उन्हें वाणी, मन, इंद्रियों की पवित्रता और एक दयालु हृदय की आवश्यकता होती हैं।

आशा करता हूँ कि आपको आचार्य चाणक्य के इन नीतियों से कुछ सींख जरुर मिलें और आपको ये लेख पसंद आया हो।

आलेख पढ कर टिप्पणी करना ना भुलें। और अपने दोस्तों के साथ भी share जरुर करें।


धन्यवाद।